You are currently viewing MX Takatak फेम हाउस की सलोनी मित्तल कहती हैं कि फेम हाउस ने उन्हें अलग पहचान दी है

MX Takatak फेम हाउस की सलोनी मित्तल कहती हैं कि फेम हाउस ने उन्हें अलग पहचान दी है

MX Takatak इन्फ्लुएंसर सलोनी मित्तल ने किये अपने फेम हाउस के सफर के बारे में मज़ेदार खुलासे। जानिये सलोनी की कहानी, उन्ही की ज़ुबानी।

जहाँ एक तरफ कोविद-१९ महामारी ने 2020 में सभी को व्यस्त रखा, वहीँ इस साल एक नया दौर भी चला – डिजिटल क्रिएटर्स का दौर। डिजिटल क्रिएटर्स ने चाहे सोशल मीडिया के माध्यम या अन्य एप्प्स के माध्यम से, हमारा खूब मनोरंजन किया। हमने जब भी मायूस या बेचैन महसूस किया तो किसी कंटेंट क्रिएटर की वीडियो देख कर फिर से सबके चेहरे खिल उठे।

इसी दौरान आये शो MX Takatak Fame House के सीजन 1 ने भारत के चुनिंदा इन्फ्लुएंसर्स को एक साथ लाया। मस्ती, मज़ाक और ड्रामा के सबसे बड़े शो में पहली बार आपकी पसंद के 18 इन्फ्लुएंसर्स आएंगे एक साथ।

जानिए Mx Takatak की सलोनी मित्तल के साथ हमारी बातचीत के कुछ अंश।

सलोनी, आपकी कॉमेडी वीडियोस तो बहुत मशहूर है। आपका अभी तक का सफर कैसा रहा ?

मैंने कॉमेडी वीडियोस बनाना हाल ही में शुरू किया। शुरुआती दौर में मैंने 10-15 वीडियोस बना कर टिकटोक पर पोस्ट कर दी, जिसके बाद मेरे करीबन 3 लाख फोल्लोवेर्स बन गए थे। उन्ही दिनों मेरी एक वीडियो वायरल भी हुई, जिसके बाद कई इन्फ्लुएंसर्स ने मुझसे कोलैबोरेशन के लिए भी पहल की।

मैंने इन्फ्लुएंसर आयुष के साथ एक वीडियो बनाया था, जिसे हमारे फैंस ने बेहद पसंद किया था। टिकटोक बैन के बाद मैंने MX Takatak पर वीडियोस बनाना शुरू कर दिया। MX Takatak ने ही मुझे स्टार बनाया। आजकल सिर्फ फोल्लोवेर्स होने से कुछ नहीं होता, फैंस हमेशा कुछ ना कुछ नया देखने की उम्मीद में रहते हैं।

MX Takatak पर आने के बाद लोग सही मायने में मुझे पहचानने लगे। उसके बाद MX Takatak Fame House ने प्रसिद्धि से मेरी पहचान कराई।

सोशल मीडिया पे वीडियोस बनाने की शुरुआत कहाँ से हुई ?

मैं 5 साल से मॉडलिंग कर रही हूँ और मेरे दोस्त मुझे हमेशा सोशल मीडिया एकाउंट्स बनाने के लिए प्रोत्साहित करते रहे। उनका मानना ये था कि आजकल आप किसी भी क्षेत्र में हों, सोशल प्रजेंस बहुत ज़रूरी है। उनकी बात मानके ही मैंने सोशल मीडिया एकाउंट्स बनाये।

सच कहूँ तो मैं अपने जीवन को कैमरे में दिखाने से ज़्यादा सुकून से जीना चाहती हूँ। मेरे लिए शुरू में कई मुश्किलें आयी क्यूंकि मैं हर वक़्त खुद को कैमरा के सामने नहीं रख सकती।

सलोनी, आप किस तरह की वीडियोस बनाती हैं ?

रोमैंटिक, कॉमेडी, कांसेप्ट वीडियो और लिप-सिंक वीडियोस, मैं हर तरह के कंटेंट पे काम करती हूँ। मेरी कोशिश रहती है की हर वीडियो के अंत में कुछ ना कुछ सीख हो।

फेम हाउस का आपका अनुभव कैसा रहा ?

मैंने कभी नहीं सोचा था कि MX Takatak से मिली प्रसिद्धि के बाद मुझे इतनी जल्दी किसी टीवी शो में जाने का मौका मिलेगा। फिर एक दिन MX की तरफ से फ़ोन आया और फेम हाउस के वो 7 दिन कैसे बीत गए, पता ही नहीं चला। मेरे फोल्लोवेर्स पहले 2 लाख थे। फेम हाउस के बाद मेरे फैनस लगभग 4 लाख हो गए हैं।

MX Takatak की इस पहल के बारे में आप क्या सोचती हैं ?

फेम हाउस एक बहुत ही अलग पहल है। 20 अलग- अलग क्रिएटर्स को एक साथ लेके आना और उनमे एक स्वस्थ प्रतिस्पर्धा की भावना जगाना एक अलग तरह का कांसेप्ट है। ऐसा आज तक पहले कभी नहीं हुआ है।

फेम हाउस के बाद क्या किसी ब्रांड ने आपके साथ संपर्क किया?

ब्रांड्स से तो बातें चल रही है। साथ ही कई रियलिटी शोज से भी ऑफर्स आ रहे हैं, पर अभी तक कुछ फाइनल नहीं हुआ है।

आने वाले समय में क्या हम सलोनी को किसी ब्रैंड विज्ञापन में देख सकते हैं?

हो सकता है, पर मैं चाहती हूँ कि मैं अच्छा कंटेंट लेके आऊं, जिसके साथ सभी फैंस जुड़ सकें।

क्या आपने फेम हाउस से कुछ नया सीखा ?

फेम हाउस में हम 20 क्रिएटर्स थे और सबका ही टैलेंट अलग-अलग था. हमने साथ में सब कुछ करने की कोशिश की। मैंने स्टंट्स और डांस भी किया, जो कि मुझे नहीं आता था।

फेम हाउस के बाद आपके साथ कोई यादगार फैन मोमेंट हुआ है ?

हर रोज़ मुझे ढेरों मैसेज आते हैं। मेरे फैंस मुझे बताते हैं कि उन्हें मेरा फेम हाउस का सफर कितना अच्छा लगा। कई फैंस जब मिलते हैं तब भी कॉम्पलिमेंट करते हैं।

फेम हाउस में किसी से ख़ास दोस्ती या दुश्मनी हुई?

दुश्मनी तो किसी से हुई ही नहीं क्यूंकि हम सभी ने फेम हाउस मैं जो भी किया, वो हम लास्ट एपिसोड में वहीँ छोड़ के आ गए। हाँ, मेरे कुछ बहुत अच्छे दोस्त बने जैसे आशिका भाटिया, विशाल कालरा और स्वाति शर्मा।

फेम हाउस के बारे में आपको सबसे ख़ास बात क्या लगी? क्या आप कोई यादगार पल साथ लेकर आयी हैं ?

MX की सारी टीम ने हमारा बोहत ख्याल रखा। हर तरफ कैमरा होने के बावजूद भी, हमें घर जैसा ही अनुभव कराया गया। सभी लोग बार-बार आके हमसे पूछ रहे थे कि क्या हम लोग ठीक से हैं या नहीं। इसके अलावा मुझे फेम हाउस में कई अच्छे दोस्त मिले. आम तौर पर मैं अन्य क्रिएटर्स से जल्दी घुलमिल नहीं पाती हूँ, पर फेम हाउस का एक्सपीरियंस अलग था।